भिंड:जिले में लगी अनोखी आर्ट गैलरी, शहीद सैनिकों के चित्र बनाकर लगाई प्रदर्शनी,दी श्रद्धांजलि

लोकमतसत्याग्रह/भिंडप्रतिभा किसी की मोहताज नहीं होती इस कहावत को चरितार्थ किया है भिंड की बेटी सलोनी जैन ने। सलोनी ने फाइन आर्ट में एमए कर उसमें अपना कैरियर बनाया। सलोनी ने भिंड जिले में आजादी के बाद से 2015 तक शहीद हुए 50 से ज्यादा वीर शहीदों की फोटो बनाकर प्रदर्शनी (आर्ट गैलरी)में लगाई है।

आजादी के लिए शहीद हुए शहीदों के चित्र भी प्रदर्शनी में लगाए 

दरअसल आजादी के अमृत महोत्सव के तहत सलोनी और उनकी 36 सदस्यीय टीम द्वारा बद्री प्रसाद की बगिया में चित्रकला की प्रदर्शनी लगाई गई है। इसमें,आमजन से लेकर भिंड कलेक्टर और जिले के आला अधिकारी प्रदर्शनी में पहुंच रहे हैं। ये तीन दिवसीय प्रदर्शनी 16-17-18 अगस्त तक रहेगी। प्रदर्शनी का शुभारंभ भिंड सांसद संध्या राय (MP Sandhya Rai)द्वारा फीता काटकर किया गया। प्रदर्शनी में भिंड जिले के शहीदों के अलावा आजादी के लिए शहीद हुए शहीदों के चित्र भी प्रदर्शनी में लगाए गए। दूसरी ओर फ्लाइट लेफ्टिनेंट अभिनंदन,नोबेल पुरस्कार से नवाजे गए कैलाश सत्यार्थी के अलावा देवी देवताओं ओर महात्मा गांधी का भी आकर्षक चित्र प्रदर्शनी में बिक्री के लिए रखा हुआ है।

प्रदर्शनी में बिक्री के लिए रखे गए चित्रों की ये कीमत

प्रदर्शनी में बिक्री के लिए रखे गए चित्रों की कीमत 10,000 से लेकर के 25000 तक है। इनको कोई भी आर्ट गैलरी से खरीद सकता है। सलोनी  से तीन दर्जन से ज्यादा बच्चे-बच्चियां फाइन आर्ट सीख रही हैं। बच्चियों का कहना है कि नौकरी ओर रोजगार के अलावा चित्रकला सम्मान के साथ साथ नाम कमाने और आमदनी का एक बड़ा जरिया हो सकता है। बच्चियों  ने बताया कि भिंड जैसी छोटी जगह में फाइन आर्ट के लिए कोई स्कूल तो नहीं है और कई बच्चियों के माता-पिता उन्हें बाहर भेजना भी अफोर्ड नहीं कर सकते है। इसी वजह से भिंड जैसी छोटी जगह से कई बच्चे इस कला में माहिर होते हुए भी कला की बारीकियों से बिना शिक्षा के महरूम रह जाते हैं,जिसकी कमी सलोनी पूरी कर रही हैं। 

कई प्रतिभाएं फाइन आर्ट में आएंगी सामने 

सलोनी का मानना है कि आने वाले समय में कई प्रतिभाएं फाइन आर्ट में सामने आएंगी। वहीं एग्जाविशन में पहुंचने वाले दर्शक भी शहीदों की कलाकृतियों से सजी इस आर्ट गैलरी को खूब सराह रहे हैं। सलोनी कहती है कि देश की सीमा पर कुर्बान हुए वीर शहीदों को चित्रों के माध्यम से सच्ची श्रद्धांजलि देना चाहती है। इस प्रदर्शनी के लिए यह पंक्तियां सटीक बैठती है कि शहीदों की चिताओं पर हर साल लगेंगे मेले बस आखिरी यही निशां होगी। 

कलेक्टर प्रतिभाशाली बच्चों को करेंगे मोटिवेट 

वही भिंड कलेक्टर सतीश कुमार एस का कहना है कि प्रतिभाशाली बच्चों को अपने स्तर पर वह मोटिवेट करने का जरूर प्रयास करेंगे। उनकी कलाकृतियों को कुछ विभागों के लिए जरूर पर परचेज करवाएंगे। इसके साथ उन्होंने वादा किया कि फाइन आर्ट के छात्र कुछ ऐसे चित्र बनाएं जिनको वह खरीद कर शासकीय दीवारों पर और खेल के स्थानों पर पेंट करवा सकें। इससे चित्रकारों की आमदनी तो बढ़ेगी ही साथ ही जिले की सुंदरता में चार चांद भी लगाए जा सकेंगे।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s